बलात्कारी MLA सेंगर को बचाने में उलझी एक IAS दो IPS महिला अफसर

0

लखनऊ। उन्नाव के चर्चित तत्कालीन बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर रेप केस में सीबीआई ने आईएएस अदिति सिंह, आईपीएस पुष्पांजलि सिंह और नेहा पांडेय को लापरवाही का दोषी मानते हुए कार्रवाई की सिफारिश की है। 2009 बैच की आईएएस अफसर अदिति सिंह 24 जनवरी 2017 से 26 अक्टूबर 2017 तक उन्नाव में तैनात थीं। अदिति इस वक्त हापुड़ की डीएम हैं। वहीं, 2006 बैच की आईपीएस अधिकारी पुष्पांजलि सिंह उन्नाव की एसपी थीं। पुष्पांजलि वर्तमान में एसपी रेलवे गोरखपुर हैं। जबकि 2009 बैच की आईपीएस नेहा पांडेय भी उन्नाव में एसपी रहीं। ये आजकल केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर आईबी में तैनात हैं।

शब्दघोष के फेसबुक पेज से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें

आईएएस अदिति सिंह
से रेप पीडि़ता ने कई बार शिकायत की, लेकिन उस पर कोई ध्यान नहीं दिया गया।

आईपीएस पुष्पांजलि
ने शिकायत नहीं सुनी, पीडि़ता के पिता की मौत के मामले को दबाने की कोशिश की।

आईपीएस नेहा पांडे
विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को बचाने के लिए पूरे केस में लापरवाही बरतती रहीं।

क्या है मामला
तत्कालीन बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर महिला ने रेप का आरोप लगाया। जेल में पीडि़ता के पिता की पिटाई से मौत हो गई। सेंगर को कोर्ट ने उम्रकैद की सजा सुनाई है।

अन्य महत्वपूर्ण खबरें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here