शराब की कीमतों में ऐतिहासिक वृद्धि

0

सरकार ने 50 फीसदी भाव बढ़ाए

हैदराबाद। शराब को लेकर मच रही अफरा तफरी को रोकने का तर्क देकर दिल्ली के बाद अब आंध्र प्रदेश सरकार ने शराब की कीमतों में 50 प्रतिशत इजाफा कर दिया है। जिसके कारण शराब की कीमतों में कुल समग्र वृद्धि दर 75 प्रतिशत हो गई है। संशोधित कीमतें आज दोपहर से लागू हो गई हैं। मुख्यमंत्री कार्यालय ने कहा कि शराब की खपत को हतोत्साहित करने के लिए मूल्य वृद्धि की गई है।

इससे पहले दिल्ली सरकार ने शराब पर 70 प्रतिशत कोरोना फीस लगाई है। लॉकडाउन 3.0 के पहले दिन शराब की दुकानों पर उमड़ी भीड़ को सीमित करने और सरकारी राजस्व बढ़ाने के मकसद से दिल्ली सरकार ने स्पेशल कोरोना शुल्क लगा दिया है। शुल्क की दर एमआरपी पर 70 फीसदी होंगी। मंगलवार सुबह से टैक्स की नई दरें लागू हो गई हैं। दरअसल करीब डेढ़ महीने से लॉकडाउन के चलते बंद शराब की दुकानें अब खुली हैं तो लोग किसी भी तरह से शराब खरीद लेना चाहते हैं।

यह भी पढ़ें – शहीद कर्नल को पूरे देश ने नम आंखो से दी विदाई

वहीं हरियाणा की सीमा सील होने के चलते वहां नहीं जाया जा सकता, जैसा कि अक्सर दिल्ली वाले करते हैं क्योंकि वहां शराब दिल्ली की मुकाबले सस्ती होती है।  सोमवार को पांच राज्यों में 554 करोड़ रुपये की शराब की बिक्री हुई। लॉकडाउन 3.0 के पहले दिन कुल 736 जिलों में से 600 जिलों में दुकानें खुलीं। लेकिन, सबसे ज्यादा भीड़ शराब की दुकानों पर उमड़ी। कुछ शहरों में तो दो किलो मीटर तक लंबी कतारें दिखीं।

उत्तरप्रदेश में 225 करोड़, महाराष्ट्र में 200 करोड़, राजस्थान में 59 करोड़, कर्नाटक में 45 करोड़ और छत्तीसगढ़ में 25 करोड़ रुपये की शराब बिकी। जाहिर है कि बढ़ी हुई दरों के चलते बिक्री के ये आंकड़े अब कम से कम डेढ़ गुना बढऩेे वाले हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here