बिहार के 38 में से 37 जिले कोरोना की चपेट में

0

अप्रवासियों के साथ बढ़ रहा संक्रमण

पटना। कोरोना के मामले में अब तक राहत की सांस ले रहे बिहार के 38 में से 37 जिले कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। अब राज्य का केवल जमुई जिला ही इस महामारी से बचा रह गया है। बताया जा रहा है कि आप्रवासियों के घर लौटने के साथ ही राज्य में कोरोना के नए मामलों में वृद्धि होती जा रही है।

रविवार की सुबह मिले 18 नए मामलों के साथ राज्य में कोरोना संक्रमितों की संख्या 629 हो गई है। जबकि, अब तक कुल 322 संक्रमितों ने कोरोना को पराजित करने में सफलता हासिल की है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा रविवार को जारी कोराना की पहली रिपोर्ट के अनुसार सहरसा व मधेपुरा से सात-सात नए मामले मिले हैं।

यह भी पढ़ें – पुलिस को रोड पर दौड़ा-दौड़ाकर पीटा

दरभंगा से दो लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। बेगूसराय व अररिया से भी एक-एक मरीज मिले हैं। इसके पहले शनिवार को महामारी ने मुजफ्फरपुर जिले में दस्तक दी। पहली बार मुजफ्फरपुर से तीन लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। शनिवार को मुजफ्फरपुर के तीन संक्रमित समेत 32 नए मामले सामने आए। स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार मुजफ्फरपुर के मुशहरी से शनिवार को तीन लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई।

स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने बताया कि मुशहरी से मिले तीनों संक्रमित मजदूर हैं, जो दो दिन पूर्व ही बाहर से वापस लौटे हैं। उन्होंने कहा कि संक्रमण की जद में आने वाला मुजफ्फरपुर राज्य का 37वां जिला है। मुजफ्फरपुर के अलावा शनिवार को बेगूसराय से 12, रोहतास से 5, नालंदा व मुंगेर से दो-दो, अरवल से तीन, वैशाली, भागलपुर, खगडिय़ा, शेखपुरा और सिवान से भी एक-एक संक्रमित मिले।

यह भी पढ़ें – नांदेड़ साहेब गुरूद्वारा भी बंद

प्रधान सचिव ने कहा जिलों से इनकी ट्रैवल और कांटेक्ट हिस्ट्री तलब की गई है। इधर स्वास्थ्य सचिव लोकेश कुमार सिंह ने बताया कि राज्य में अब तक 31509 सैंपल की जांच की गई है, जिनमें अब तक 611 संक्रमित मिले हैं। शनिवार को 55 लोग कोरोना को परास्त कर अपने घर लौटे। उनके मुताबिक राज्य में कोरोना से ठीक होने वालों की कुल संख्या 322 हो गई है। इसके बाद ठीक होने वालों का प्रतिशत अब 52.70 हो गया है। उधर अप्रवासी मजदूरों को लेकर अतिरिक्त सावधानी बरती जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here