बारिश के पानी से रेलवे का अंडर ब्रिज तालाब में तब्दील हुआ

0

रेल पटरी से रास्ता पार कर रहे वाहन चालक

साडोरा से अनिल बांझल की रिपोर्ट
शाढौरा। बारिश का पानी भर जाने से निकटस्थ ग्राम पहाड़ा का रेलवे अंडर ब्रिज तालाब में परिवर्तित हो गया है। मजबूर दुपहिया वाहन चालकों को रेल की पटरी से रास्ता पार करना पड़ रहा है। उल्लेखनीय है कि कोटा-बीना रेलवे लाईन पर रेलवे अंडरब्रिज में वारिश का पानी भर गया है। इससे आवागमन अवरुद्ध हो गया है। जिससे नतीजतन पहाड़ा, मढ़ी नामदार, गता व सिलावन सहित करीब डेढ़ दर्जन गांव प्रभावित हैं। इन गांवों का गुना अशोकनगर हाइवे से सीधा संपर्क टूट गया है।

कोटा बीना रेलखंड के गेट क्रमांक 50 पर बने फाटक को बंद कर पिछले साल यह अंडरपास बनाया गया था | जिसके निर्माण के दौरान ग्रामीणों ने पानी भरने से वाहनों के आवागमन की परेशानियों को लेकर आपत्ति जताई थी | परन्तु निर्माण से जुड़े अधिकारीयों सहित निर्माण एजेंसी ने पानी निकासी का भरोसा दिया था। परन्तु उसकी पोल पिछली वारिश में ही खुल गई थी। हालांकि तब डीजल इंजन रखकर पानी निकाला गया था |

Click Here – To Like And Follow Our FaceBook Page

लेकिन उसके बावजूद भी यहां समस्या बारिश के बाद तक बनी रही थी। इस बार इंजिन से पानी निकालने की व्यवस्था भी नहीं है । वारिश की शुरुआत से ही इसमें करीब 8-10 फिट पानी भर गया है। जिसके कारण यहां से निकलने वाले पैदल यात्री व टू व्हीलर अौर फोर व्हीलर तो दूर की बात ट्रेक्टर भी नहीं निकल पा रहे हैं। गौरतलब है अभी तो बारिश शुरू हुई है, उसमें यह हाल है। तो आगे और बरसात के दिनों में क्या हाल होगा, यह सहज ही समझा जा सकता है।

अंडर ब्रिज में पानी भरा होने से लोग जान जोखिम में डाल कर रेल पटरी पार करने के लिए मजबूर हो रहे हैं। आज सुबह गांव के एक व्यक्ति की रेल पटरी पार करते समय मोटर साइकिल पटरियों के बीच फंस गई। उसी समय ट्रैक पर एक ट्रेन आ रही थी। खुश किस्मती रही कि पीछे कुछ लोग पैदल आ रहे थे। उन लोगों ने दौड़ कर फंसी हुई बाइक को निकलवाया। अन्यथा बड़ा हादसा हो सकता था। क्षेत्र के लोग पिछले साल से ही लगातार अंडर ब्रिज में पानी भरने की समस्या को लेकर मांग करते आ रहे हैं।

लोगों ने ठेकेदार,विधायक, सांसद सहित प्रधानमंत्री कार्यालय दिल्ली तक आवेदन दिए थे। परन्तु एक साल बाद भी इस समस्या का कोई समाधान नहीं निकला है। इस अनदेखी के चलते क्षेत्र के लोग आवाजाही में भारी परेशान हो रहे हैं। ग्रामीणों ने रेलवे के अधिकारीयों से तत्काल ब्रिज में भरा पानी निकालने की व्यवस्था के साथ 4-5 किलोमीटर दूर तक नाली बनाकर पानी की निकासी किये जाने की मांग की है। जिससे आवागमन सुचारू हो सके |

Read this As Well

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here