फर्जी दस्तावेज पर PNB Bank ने दिया 1.70 करोड़ का लोन

0
फर्जी दस्तावेज पर PNB Bank ने दिया 1.70 करोड़ का लोन

इंदौर की EOW विंग ने किया केस दर्ज

फर्जीवाड़े के लिए बदनाम हो चुके पंजाब नेशनल बैंक पीएनबी में एक और फर्जीवाड़ा सामने आया है। मप्र की इंदौर ब्रांच के अधिकारियों द्वारा फर्जी दस्तावेजों पर लोन दिया गया है। अब इस मामले में आर्थिक अपराध अन्वेषण ब्यूरो ईओडब्ल्यू ने केस दर्ज कर लिया है। गौरतबल है कि भोपाल में भी लोन में गड़बड़ी के कई मामले सामने आ चुके हैं।

इंदौर। पंजाब नेशनल बैंक के अफसरों पर फर्जी दस्तावेज के आधार पर 1.70 करोड़ रुपए के लोन देने के मामले में ईओडब्ल्यू की इंदौर विंग ने केस दर्ज कर लिया है। इसमें बैंक के मुख्य प्रबंधक, वरिष्ठ प्रबंधक समेत करीब छह लोगों को आरोपी बनाया गया है। लोन लेने के वाले आरोपियों ने फर्जी दस्तावेज बैंक अफसरों के सामने पेश किए थे।

इसके बाद आरोपियों ने बैंक अफसरों के साथ मिलकर जमीन की कीमत को कई गुना बताकर उस पर लोन लिया था। ईओडब्ल्यू इंदौर पुलिस अधीक्षक धनंजय शाह के मुताबिक पंजाब नेशनल बैंक की जवाहर मार्ग शाखा के बैंक मैनेजर नंदकिशोर शाह ने लोन के फर्जीवाडेÞ की शिकायत की थी।

शब्दघोष के फेसबुक पेज से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें

अब तक हुई जांच में सामने आया था कि मेसर्स श्रीराम इंटरप्राइजेस के प्रोप्राइटर शिलादित्स सिंह चौहान एरोड्रम रोड में रहते हैं। उनकी ऑटो पाट्र्स और टायर का कोराबार है। उन्होंने व्यवसाय के लिए बैंक में लोन देने के लिए आवेदन किया था। उन्होंने बंधक के रूप में एक जमीन के दस्तावेज पेश किए थे।

उक्त भूमि को उन्होंने ग्राम कुमेड़ी स्थित भैरवलाल पिता महादेव प्रसाद प्रजापति निवासी सावेर रोड से खरीदी थी। 22 नवंबर 2017 को इसकी दो करोड़ रुपए में रजिस्ट्री भी कराई गई थी। दस्तावेज फर्जी होने के बावजूद बैंक के प्रोसेसिंग अधिकारी बृजेश पुलैया, वरिष्ठ प्रबंधक ने आवेदक के साथ सांठ-गांठ कर 1.70 लाख रुपए पास किया था।

इस फर्जीवाड़े का खुलासा होने पर आरोपियों पर मामला दर्ज किया गया है। अब ईओडब्ल्यू आरोपियों को समन जारी करने की तैयारी कर उनका पक्ष सुनेगी और उसके बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी। फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है।

अन्य महत्वपूर्ण खबरें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here