ईंधन की मूल्य वृद्धि के खिलाफ माकपा का प्रदर्शन

0
ईंधन की मूल्य वृद्धि के खिलाफ माकपा का प्रदर्शन

सीहोर से संगीता राठौर की रिपोर्ट
सीहोर। स्थानीय टाउन हाल के सामने माकपा कार्यकर्ताओं ने राष्ट्रव्यापी विरोध के तहत सोमवार को प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के दौरान डीजल पेट्रोल के बड़े हुए दाम वापस लेने की मांग रखी गई। गैस की सब्सिडी बंद करना नहीं चलेगा, रसोई गैस की सब्सिडी पुन: चालू करो, महंगाई पर रोक लगाओ, प्रत्येक व्यक्ति को दस किलो अनाज छ: माह तक नि:शुल्क प्रदान करो, प्रत्येक परिवार को जो आयकर सीमा से बाहर हो उसे साढ़े सात हजार रूपये प्रति माह छ: माह तक प्रदान करो, कोरोना के सभी पीडि़तों का ईलाज नि:शुल्क एवं श्रेष्ठतम करो, कोरोना की जांच का दायरा बढ़ाओ, आम आदमी को हर प्रकार राहत दो अमीरों की तिजोरी भरना बंद करो आदि नारे लगाए।

जिला माकपा नेता राजीव कुमार गुप्ता ने संबोधित करते हुए कहा कि सरकार कोरोना महामारी के दौर में भी जनता भीषण बेरोजगारी का दंश झेल रही है। उस पर सरकार डीजल पेट्रोल रसोई गैस की मूल्य वृद्धि कर के जनता के घावों पर नमक छिडकने का काम कर रही है। वैसे ही आम जनता की कमर टूट चुकी है। बावजूद इस के सरकार जनता पर कहर बनकर टूट रही है।

ऐसे में आम आदमी हताश निराश बेरोजगार भूखा एवं किंकर्तव्यविमूढ़ है। सरकार को चाहिए की वह टाटा, बिरला, अंबानी अडानी एवं विदेशी महा धनिकों की परवाह की अपेक्षा देश के आम नागरिकों को राहत दे और डीजल पेट्रोल रसोई गैस के दाम आधे करे । माकपा नेता बहादुर सिंह पौडवाल ने कहा की अब हमारे पास विरोध के अलावा कोई चारा नहीं है। जनता को भीषण संकट से राहत पाने के लिए सड़कों पर आना हीं पडेगा। प्रदर्शन में माकपा कार्यकर्ताओं ने जोरदार नारेबाजी की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here