क्राईम बर्दाश्त नहीं, क्रिमिनल थर थर कांपने चाहिए

0
बस का किराया बढ़ाये जाने पर शिवराज करेंगे फैसला

सीएम शिवराज के म.प्र. पुलिस को खुले निर्देश

ये कानपुर हत्याकांड का असर है या फिर जावरा में दुल्हन की हत्या का सबब, सीएम शिवराज सिंह (Shivraj Singh) ने पुलिस अधिकारियों से साफ साफ कह दिया कि क्राईम बर्दाश्त नहीं, क्रिमिनल थर थर कांपने चाहिए। सीएम शिवराज (Chief Minister Shivraj Singh) के म.प्र. पुलिस (Mp Police) को खुले निर्देश हैं कि अपराधियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही होनी चाहिए। पुलिस हो चाहे राजनेता, किसी का भी वरद हस्त अपराधियों पर नहीं चलेगा।

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने हाईलेवल मीटिंग में वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिए कमिश्नर, कलेक्टर, आईजी, डीआईजी और एसपी को कानून व्यवस्था को लेकर सख्त निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि किसी भी तरह का क्राईम बर्दाश्त नहीं किया जायेगा अपराधियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए, ताकि उनमें पुलिस का खौफ पैदा हो सके। सीएम ने निर्देश दिए कि बदमाशों की सूची बनाकर विशेष अभियान चलाया जाए। ये समाज के दुश्मन हैं और इन पर कार्रवाई करने में किसी भी तरह का संकोच नहीं होना चाहिए।

शब्दघोष के फेसबुक पेज से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें

मुख्यमंत्री ने कहा कि किसी की चिंता न करें क्राईम बर्दाश्त नहीं किया जायेगा और जो अपराधियों को संरक्षण देगा उसे मैं देख लूंगा। उन्होंने कहा कि ऑनलाइन अपराध हो रहे हैं उस पर ध्यान दें, दूसरे राज्यों से अपराध होते हैं तो वहां के अधिकारियों को सहयोग लेकर अपराध खत्म करें। उन्होंने हिदायत दी कि पुलिस का कोई भी व्यक्ति इनका मित्र नहीं होना चाहिए और इन पर बिना किसी दबाव के कार्रवाई करें। जहां जरूरत हो वहां अपराधियों की संपत्ति जब्त की जाए। घटना हुई तो थानेदार नहीं पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी भी जिम्मेदार होंगे, असफल रहने पर हटाने की कार्रवाई की जाएगी।

मुख्य मंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पुलिस अधिकारियों से कहा कि मैं अपराध बर्दाश्त नहीं करूंगा। हर सोमवार को लॉ एंड ऑर्डर की समीक्षा करूंगा। सीएम ने कहा कि संगठित माफिया, चिट फंड वालों, रेत माफिया के विरुद्ध कार्रवाई हो। हमारी सरकार में पैसे लेकर पोस्टिंग नहीं होती। उन्होंने भोपाल, होशंगाबाद, मंडला जिलों में घटित अपराधों का उल्लेख करते हुए बेहतर कानून व्यवस्था स्थापित करने को कहा। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में डीजीपी विवेक जौहरी, एसीएस गृह एसएन मिश्रा शामिल थे।

सर्वाधिक पढ़ी गयीं खबरें व आलेख

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here