कोरोना इफेक्ट: पिछले साल के मुकाबले सरकार के खाते में कम आए 4300 करोड़

0
इंजीनियरिंग की काउंसलिंग 1 सप्ताह में

44 फीसदी कम हुई आमदनी

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि अधिकारी प्रदेश में आर्थिक गतिविधियां नहीं रोकें। पुरानी बकाया राशि की रिकवरी भी समयबद्ध तरीके से कराने का प्रयास करें। अब कोरोना के साथ ही जीना है, इसलिए आयवृद्धि के लिए इसी के आधार पर काम करना होगा। वे खुद भी इसके लिए अध्ययन करेंगे। सीएम चौहान ने अधिकारियों के साथ राजस्व वृद्धि की समीक्षा करते हुए कहा कि गौण खनिज की चोरी और ओवरलोडिंग को रोकना है। इस पर और सख्ती की जाए तथा अवैध खनन को सख्ती से रोका जाए। इसके लिए एक समिति बनाकर अनियमितता को रोकने के लिए प्रयास किए जाएं।

सीएम को समीक्षा के दौरान बताया गया कि पिछले साल अप्रेल से जुलाई के मध्य राज्य सरकार की एसजीएसटी और आईजीएसटी से होने वाली आमदनी 7027 करोड़ रुपए थी जो इस साल इसी अवधि में 3950 करोड़ रुपए तक रह गई है और पिछले साल के मुकाबले 3077 करोड़ यानी 44 फीसदी कम है। इसी तरह स्टांप और पंजीयन शुल्क से पिछले साल 1968 करोड़ रुपए मिले थे जो इस साल के चार माह में 1325 करोड़ ही पहुंच सके हैं। इस तरह 643 करोड़ की आमदनी पिछले साल से कम है जो पिछले साल के मुकाबले 33 फीसदी कम बताई जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here