यूरोप में नए वायरस की दस्तक, बच्चों को बना रहा निशाना

0

वैज्ञानिकों के अनुसार यह कोरोना का बदला हुआ स्वरूप जो बच्चों पर कर रहा असर

नई दिल्ली। विश्व में पहले से ही कारोना वायरस को लेकर हड़हंप मचा हुआ है, वहीं इसी बीच एक नया वायरस यूरोप में अपना पैर जमाता दिख रहा है। जहां कोरोना वायरस वयस्कों पर हमले कर रहा है वहीं यह वायरस खासकर बच्चों को अपनी चपेट में ले रहा है। यूरोपीय महाद्वीप के 6 देशों में इसका असर देखा गया है। जिसमें इंग्लैंड, अमेरिका और फ्रांस समेत लगभग 6 देशों में एक अजीब सा वायरस बच्चों पर लगातार हमला कर रहा है। वही इस वायरस के चलते कुछ बच्चों की भी मौत हो चुकी है। यूरोप और अमेरिका में इस नए वायरस के चलते 100 से ज्यादा बच्चों को अस्पताल के आईसीयू वार्ड में दाखिल करना पड़ा है।

Read This Also – लॉक डाऊन से किसे कितनी राहत

इस वायरस के सबसे पहले लक्षण इंग्लैण्ड में देखे गए है। इंग्लैण्ड के स्वास्थ्य सचिव मैट हैंकॉक ने बताया कि कुछ बच्चों को अजीब से लक्षणों के साथ अस्पताल में दाखिल किया गया है। वहीं इस वायरस के लक्षणों के तौर पर बच्चों ने दिल में जलन व सांस लेने में तकलीफ प्रमुख रूप से सामने आई है। वैज्ञानिकों द्वारा इस वायरस को कोरो से जोड़ा जा रहा है एवं स्वास्थ्य सचिव ने ऑफिशियली रूप से यह कबूला कि इसकी वजह से कुछ बच्चों की मौत भी हो चुकी है। इंग्लैंड के वैज्ञानिकों के अनुसार अस्पताल में भर्ती बच्चों में टॉक्सिक शॉक के साथ कावासाकी वायरस जैसे लक्षण नजर आए हैं। वैज्ञानिकों का यह भी कहना है कि यह कोरोना का ही बदला हुआ स्वरूप है जो कि बच्चों पर अलग ढंग से हमला कर रहा है।

Read This Also – अमेरिकी राष्ट्रपति ने WHO पर साधा निशाना

प्राप्त रिपोर्ट के मुताबिक अब तक इस नए वायरस के 100 से ज्यादा मामले सामने आए हैं। यूरोप में इंग्लैंड के अलावा स्पेन, फ्रांस, अमेरिका, इटली और स्विट्जरलैंड से भी फ्रांस के स्वास्थ्य मंत्री ओलिवर वेरन के अनुसार फ्रांस में भी कुछ बच्चों में दिल में जलन की शिकायत सामने आई है एवं दर्जन भर से ज्यादा बच्चों को अस्पताल में भर्ती किया गया है।
अभी तक मिली रिपोर्ट में यह सामने आया था कि कोरोना वायरस अभी तक वयस्कों को ही अपनी चपेट में ले रहा था। बहुत ही कम ऐसे मामले थे जिनमें किसी बच्चे की कोरोना के चलते मृत्यु हुई हो या उनका कोरोना संक्रमण पॉजीटिव निकला हो। ऐसे में अब इंग्लैंड और इटली के वैज्ञानिकों ने इस मामले का गंभीरता से लेते हुए पड़ताल शुरू कर दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here